Category: B

पुस्तकालय प्रसूची का पूर्वव्यापी रूपान्तरण (Retrospective Conversion of Library Catalog) से आप क्या समझते है ? 0

पुस्तकालय प्रसूची का पूर्वव्यापी रूपान्तरण (Retrospective Conversion of Library Catalog) से आप क्या समझते है ?

पुस्तकालय प्रसूची का पूर्वव्यापी रूपान्तरण (Retrospective Conversion of Library Catalog) से आप क्या समझते है ? आधुनिक समय में प्रलेखन सेवा का अत्यधिक महत्व है । पुस्तकालय के गृहकार्य में कंप्यूटर के अनुप्रयोग ने...

फाह्यान तथा ह्वेनसांग का वर्णन The Account of Fahien and hyanchwang 0

फाह्यान तथा ह्वेनसांग का वर्णन The Account of Fahien and hyanchwang

फाह्यान तथा ह्वेनसांग का वर्णन The Account of Fahien and hyanchwang – हेनसांग का प्रारम्भिक जीवन-  युवान च्वांग का भारत आगमन हर्ष के शासनकाल की ही नहीं वरन् भारतीय इतिहास की अपूर्व घटना है।...

हर्ष का शासक, सैनिक नेता तथा कला एवं विद्याओं के संरक्षक के रूप में मूल्यांकन कीजिए। 0

हर्ष का शासक, सैनिक नेता तथा कला एवं विद्याओं के संरक्षक के रूप में मूल्यांकन कीजिए।

हर्ष का शासक, सैनिक नेता तथा कला एवं विद्याओं के संरक्षक के रूप में मूल्यांकन कीजिए। Form an estimate of Harsha as a ruler, Military leader and patron of art and learning.हर्षवर्धन ने भी...

प्राचीन भारतीय इतिहास में हर्ष के स्थान का मूल्यांकन कीजिए। 0

प्राचीन भारतीय इतिहास में हर्ष के स्थान का मूल्यांकन कीजिए।

 प्राचीन भारतीय इतिहास में हर्ष के स्थान का मूल्यांकन कीजिए।   Assess Harsha’s Position in Ancient Indian History. (5) बौद्ध धर्म का महान् प्रचारक –  आरम्भ में अशोक की तरह वह भी पहले हिन्दू 5...

Describe fully the conquests of Kanishaka I 0

Describe fully the conquests of Kanishaka I

प्रश्न 41. कनिष्क प्रथम की विजयों का सविस्तार वर्णन कीजिए।Describe fully the conquests of Kanishaka I उत्तर- सम्भवतः 78 ई. में उसने सत्ता अधिग्रहण की कनिष्क भारत का ही नहीं। विश्व के महान् सम्राटों...