उसने अपनी बांह कैसे खोयी पर चर्चा! – SarkariJobHub.Com

हर दो या तीन साल में मैं ट्रथू फोरम के केक्सटन हाल में व्याख्यानों की श्रृंखला देने लंदन जाता हूं। यह एक ऐसा मंच है जिसकी स्थापना मैंने कई वर्ष पूर्व की थी। निदेशक, डा. एवलीन फ्लीट ने मुझे अंग्रेजी समाचार पत्र में सुझाव की शक्ति से निपटने के बारे में बताया। यह एक व्यक्ति द्वारा दो वर्षों में अपने अवचेतन मस्तिष्क को दिये गये सुझाव के बारे में था; “मैं अपनी बेटी को ठीक करने के लिए अपना दाहिना हाथ दे दूंगा।” ऐसा पता चला कि उसकी बेटी, त्वचा के असाध्य रोग के साथ साथ अपंग बना देनी वाली हड्डी की बीमारी आर्थराइटिस से जूझ रही थी। चिकित्सकीय प्रयास उसकी स्थिति को कम न कर सके और उसका पिता अपनी पुत्री के ठीक होने की गहरी कामना रखता था, इसी लिए उसने उसका इजहार उपरोक्त शब्दों से किया। डा. इवलीन फ्लीन ने कहा कि समाचार पत्र के लेख ने इस ओर इशारा किया कि एक दिन परिवार अपनी कार से जा रहा था, तब वह दूसरी गाड़ी से टकरायी। पिता का दाहिना हाथ उसके कंधे से कट गया, और तुरंत उसी वक्त उसकी बेटी का आर्थराइटिस और त्वचा का रोग गायब हो गया!

आपको इस बात को सुनिश्चित करना होगा कि आप अपने अवचेतन को केवल उस प्रकार के सुझाव दें जो उपचार, आशीर्वाद, उन्नति और आपको सभी प्रकार से प्रोत्साहित करे। याद रखें आपका अवचेतन मस्तिष्क मजाक नहीं ले सकता। वह आपके शब्दों को ग्रहण करता है! दूसरे यात्री पर समुद्री बीमारी का सुझाव उसके स्वयं पर इसका भय होने की वजह से बढ गया। हममें से प्रत्येक का अपना आंतरिक भय, विश्वास और विचार होता है और यह आंतरिक सोच हमारे जीवन को नियंत्रित और शासित करती है। सुझाव में कोई अपनी शक्ति निहित नहीं होती, जब तक कि मानसिक रूप से आप इसे स्वीकार न करें। सुझावों की प्रकृति के अनुसार आपका अवचेतन मस्तिष्क सीमित प्रतिक्रिया देता है!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *