स्वसुझाव भय को समाप्त करने पर शिक्षा चर्चा! – SarkariJobHub.Com

स्वयं को दिये गये सुझाव के उदाहरणः स्वसुझाव का अर्थ है स्वयं को स्पष्ट और विशिष्ट सझाव देना। हरबर्ट पार्किन स्वसुझाव पर अपनी उत्कृष्ट पुस्तक हरबर्ट पार्किन आटो सजेशन (लंदनः फाउलर, १९१६) में निम्न घटना बताते हैं: इसका एक दिलचस्प पहलू है जिससे इसे आप याद रख सकते हैं, “एक न्यूयार्क के दर्शक ने शिकागो में अपनी घड़ी देखी जिसका समय शिकागो के समय से एक घंटा आगे था और उसने अपने शिकागो के दोस्त को बताया कि अभी बारह बजे हैं। उसके शिकागो के दोस्त बिना ध्यान दिये कि दोनों शहरों में समय का अंतर है, अपने न्यूयार्क वाले दोस्त को बताया, “वह भूखा है और उसे खाने पर जाना चाहिए।” स्व सुझाव का उपयोग विभिन्न प्रकार के डर और नकारात्मक स्थितियों को खत्म करने के लिए किया जा सकता है। एक युवा गायिका को आवाज परीक्षण के लिए बुलाया गया। वह इस साक्षात्कार के लिए बहुत उत्सुक थी, लेकिन पिछले तीन अवसरों में अपनी डर की वजह से वह बुरी तरह असफल रही थी। इस युवती की आवाज बहुत अच्छी थी, लेकिन वह अपने को कहती रहती थी, “जब मुझे गाने का मौका मिलेगा, शायद वे मुझे पसंद ना करे। मैं कोशिश करूंगी, लेकिन मैं बहुत डरी और आशंकित हूं।” उसके अवचेतन मन ने इन नकारात्मक स्वसुझावों को एक याचना की तरह लिया और उन्हें उसके अनुभव में ले आया!

उसके असफल होने का कारण अनजाने में किया गया स्वसुझाव था, जैसे कि पूरे भावनात्मक और विषय वस्तु में मौन डर। उसने निम्न विधि को अपना कर अपने डर को काबू में किया: दिन में तीन बार उसने अपने को कमरे में अलग किया। वह आराम कुर्सी में निश्चित हो कर बैठ गयी, अपने शरीर को ढीला किया और अपनी आंखें बंद कर ली। उसने अपने शरीर और मस्तिष्क को स्थिर किया। शारीरिक स्थिरत्व के लिए मानसिक निष्क्रियता अनुकूल है और वह मस्तिष्क को सुझाव के लिए ज्यादा ग्राह्य बनाता है। उसने अपने भय के सझाव को यह कह कर जवाब दिया, “मैं बहुत सुंदर गाती हूं, मैं सतुलित, शांत और आत्मविश्वास से भरी हई हं।” उसने इस वाक्य को धीरे और शांति स पूरे भाव के साथ पांच से दस बार कहा। ऐसा वह दिन में तीन बार और रात को ठाक सान से पहले कहती। सप्ताह के अंत तक वह एक शांत और आत्मविश्वास से भर गयी थी। जब उसे आवाज परीक्षण का निमंत्रण आया, उसने एक अद्भुत और आश्चर्य से भरा परीक्षण दिया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *